अब सड़क के साथ हवा में भी चला सकते हैं कार, भारत में बनने वाली हवा में उड़ने वाली पहली कार

0
16

दुनियाभर में भले ही तकनीक के क्षेत्र में जापान दुनिया का सर्वश्रेष्ठ देश माना जाता हो लेकिन कई बार भारत देश भी अपनी तकनीक से जापान को पीछे छोड़ देता है और पूरी दुनिया को चौंका देता था। First flying car (Imagery image)

उड़ने वाली कार का निर्माण भारत में 

अब एकबार फिर भारत अपनी तकनीक से पूरी दुनिया को चौकाने वाला है। अब जल्द ही देश में हवा में उड़ने वाली कार बनने जा रही है। जो दुनिया की पहली ऐसी कार होगी जो सड़क पर चलने के अलावा हवा में उड़ भी सकेगी।

नीदरलैंड की कंपनी ने किया गुजरात सरकार के साथ करार

इस कार का निर्माण गुजरात के अहमदाबाद में होगा। हाल ही में इस उड़ने वाली कार के लिए नीदरलैंड की कंपनी Paul – V ने गुजरात सरकार के साथ करार किया है। इस कार का निर्माण डच कंपनी Paul-V कर रही है। जिसके लिए हाल ही में कंपनी ने गुजरात सरकार के साथ करार किया था। इस कार के प्रोडक्शन की शुरुआत 2021 में शुरू होने की संभावना है। इसके बाद गुजरात से इन कारों को यूरोपीय देशों में निर्यात किया जाएगा। First flying car (Imagery image)

10 सेंकड से भी कम समय में 100KMPH की स्पीड 

इस कार की स्पीड अन्य कई कारों में कई गुना तेज होगी। PAL-V की इस कार में दो इंजन का उपयोग किया जाएगा। इस कार को ड्राइविंग मोड से फ्लांइग मोड में तब्दील होने में 10 मिनट लगेगा और इतना ही समय इसे फ्लांइग मोड से ड्राइविंग मोड में बदलने में 10 मिनट लगेंगे।

कंपनी ने इस कार की स्पीड के बारे में बताया कि इसकी टॉप स्पीड 160 किमी प्रति घंटे की है, वहीं यह महज नौ सेकंड से कम समय में शून्य से 100 किलोमीटर तक की रफ्तार पकड़ सकती है। यह कार एक बार में 1,315 किलोमीटर तक की उड़ान भर सकती है। उड़ान मोड में यह 180 किमी प्रति घंटे की अधिकतम स्पीड और 500 किलोमीटर पर सीमित है।

कार चलाने के लिए दो लाइसेंस की जरूरत 

इस कार को चलाने के लिए ड्राइवर को दो लाइसेंस की जरूरत होगी। यह एक ऐसी कार है जो हवा में भी उड़ सकती है। इसलिए कार मालिक के पास ड्राइविंग लाइसेंस के साथ-साथ फ्लाइंग लाइसेंस भी जरूरी है।

इस बारे में कंपनी ने कहा कि इस कार को चलाने के लिए दो लाइसेंस की जरूरत होगी। यह एक ऐसी कार है जो हवा में भी उड़ सकती है। इसलिए कार मालिक के पास ड्राइविंग लाइसेंस के साथ-साथ फ्लाइंग लाइसेंस भी जरूरी है।

कार की कीमत करीब 4.64 करोड़ रुपये 

फिलहाल इस कार की के बारे में किसी भी प्रकार की स्पष्ट नहीं की गई लेकिन कंपनी के सूत्रों के अनुसार इस कार की शुरुआती कीमत करीब 4.64 करोड़ रूपये हो सकती है। इस कार में दो लोग ही बैठ सकते हैं। यह कार दो सीटर होगी।

कार का साल 2012 में हुआ पहली बार परीक्षण

कंपनी ने इस कार का प्रोटोटाइप सबसे पहले साल 2012 में उड़ाया गया था। इस साल एक बार फिर फरवरी 2020 से लगातार इस कार के लिए परीक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें हाई स्पीड ब्रेक और ध्वनि प्रदूषण परीक्षण शामिल थे। PAL-V लिबर्टी के द्वारा अधिकारिक लाइसेंस प्लेट के साथ सड़कों पर चलाने की अनुमति दी गई है।

यह भी पढ़े – चेन्नई का एक शिक्षक नि:स्तब्ध बच्चों को सीखा रहा है कोडिंग, उन बच्चों के लिए एक एप भी तैयार किया

यह भी पढ़े – दीवाली के पहले छत्तीसगढ़ के कुम्हार ने बनाया जादुई दीपक, 24 घंटे तक लगातार जलेगा दीया

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here